jagdish chandra chouhan posted a blog post
अध्याय अठारह -- राजा ययाति को यौवन की पुनः प्राप्ति1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : हे राजा परीक्षित, जिस तरह देहधारी आत्मा के छह इन्द्रियाँ होती हैं उसी तरह राजा नहुष के छह पुत्र थे जिनके नाम थे यति, ययाति, सनयती, आयति, वियति तथा कृति। 2 जब कोई…
12 hours ago
jagdish chandra chouhan posted a blog post
अध्याय सत्रह – पुरुरवा के पुत्रों की वंशावली 1-3 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : पुरुरवा से आयु नामक पुत्र हुआ जिससे नहुष, क्षत्रवृद्ध, रजी, राभ तथा अनेना नाम के अत्यन्त शक्तिशाली पुत्र उत्पन्न हुए। हे महाराज परीक्षित, अब क्षत्रवृद्ध के वंश के विषय…
yesterday
jagdish chandra chouhan posted a blog post
अध्याय सोलह -- भगवान परशुराम द्वारा विश्र्व के क्षत्रियों का विनाश 1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : हे महाराज परीक्षित, हे कुरुवंशी, जब भगवान परशुराम को उनके पिता ने यह आदेश दिया तो उन्होंने तुरन्त ही यह कहते हुए उसे स्वीकार किया, “ऐसा ही होगा।” वे…
Friday
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post राजा ययाति को यौवन की पुनः प्राप्ति (9-18)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Thursday
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post पुरुरवा के पुत्रों की वंशावली (9-17)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे🙏"
Thursday
jagdish chandra chouhan posted a blog post
अध्याय पन्द्रह -- भगवान का योद्धा अवतार, परशुराम 1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : हे राजा परीक्षित, पुरुरवा ने उर्वशी के गर्भ से छह पुत्र उत्पन्न किये। उनके नाम थे---आयु, श्रुतायु, सत्यायु, रय, विजय तथा जय। 2-3 श्रतायु का पुत्र वसुमन हुआ, सत्यायु का…
Thursday
jagdish chandra chouhan posted a blog post
 अध्याह चौदह - पुरुरवा का उर्वशी पर मोहित होना 1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने महाराज परीक्षित से कहा: हे राजन अभी तक आपने सूर्यवंश का विवरण सुना है। अब सोमवंश का अत्यन्त कीर्तिपद एवं पावन वर्णन सुनिए। इसमें ऐल (पुरुरवा) जैसे राजाओं का उल्लेख है जिनके…
Wednesday
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post भगवान परशुराम द्वारा विश्र्व के क्षत्रियों का विनाश (9-16)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Tuesday
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post भगवान का योद्धा अवतार, परशुराम (9-15)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Tuesday
jagdish chandra chouhan posted a blog post
अध्याय तेरह --- महाराज निमि की वंशावली 1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : यज्ञों का शुभारम्भ कराने के बाद इक्ष्वाकु पुत्र महाराज निमि ने वसिष्ठ से प्रधान पुरोहित का पद ग्रहण करने के लिए अनुरोध किया। उस समय वसिष्ठ ने उत्तर दिया, “हे महाराज निमि, मैंने…
Tuesday
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post पुरुरवा का उर्वशी पर मोहित होना (9-14)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Monday
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post महाराज निमि की वंशावली (9-13)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Monday
jagdish chandra chouhan posted a blog post
 अध्याय बारह - भगवान रामचन्द्र के पुत्र कुश की वंशावली 1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : रामचन्द्र का पुत्र कुश हुआ, कुश का पुत्र अतिथि था, अतिथि का पुत्र निषध और निषध का पुत्र नभ था। नभ का पुत्र पुण्डरीक हुआ जिसके पुत्र का नाम क्षेमधन्वा था। 2…
Apr 12
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post भगवान रामचन्द्र के पुत्र कुश की वंशावली (9-12)
"🙏हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Apr 11
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post भगवान रामचन्द्र का विश्र्व पर राज्य करना (9-11)
"🙏 हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙏"
Apr 11
jagdish chandra chouhan posted a blog post
अध्याय ग्यारह -- भगवान रामचन्द्र का विश्र्व पर राज्य करना 1 श्रील शुकदेव गोस्वामी ने कहा : तत्पश्र्चात भगवान रामचन्द्र ने एक आचार्य स्वीकार करके उत्तम साज समान के साथ बड़ी धूमधाम से यज्ञ सम्पन्न किये। इस तरह उन्होंने स्वयं ही अपनी पूजा की क्योंकि वे…
Apr 11
More…