ISKCON Derire Tree and jagdish chandra chouhan are now friends
Jan 21
jagdish chandra chouhan posted a blog post
मार्कण्डेय द्वारा स्तुति (12.8)35-38 ये दोनों मुनि नर तथा नारायण भगवान के साकार रूप थे। जब मार्कण्डेय ऋषि ने दोनों को देखा तो वे तुरन्त उठ खड़े हुए और तब पृथ्वी पर डंडे की तरह गिरकर अतीव आदर के साथ उन्हें नमस्कार किया। उन्हें देखने से उत्पन्न हुए…
Nov 24, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post मार्कण्डेय द्वारा स्तुति (12.8)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 24, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post भगवान की विभूतियाँ (11.16)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 23, 2021
jagdish chandra chouhan posted a blog post
भगवान की विभूतियाँ (11.16)1-5 श्री उद्धव ने कहा : हे प्रभु, आप अनादि तथा अनन्त, साक्षात परब्रह्म तथा अन्य किसी वस्तु से सीमित नहीं हैं। आप सभी वस्तुओं के रक्षक तथा जीवनदाता, उनके संहार तथा सृष्टि हैं। हे प्रभु, यद्यपि अपवित्र लोगों के लिए यह समझ…
Nov 23, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post देवताओं द्वारा स्तुति (11.6)
"💐💐हरे कृष्ण 💐💐💐"
Nov 22, 2021
jagdish chandra chouhan posted a blog post
देवताओं द्वारा स्तुति (11.6)7 देवता कहने लगे: हे प्रभु, बड़े बड़े योगी कठिन कर्म-बन्धन से मुक्ति पाने का प्रयास करते हुए अपने हृदयों में आपके चरणकमलों का ध्यान अतीव भक्तिपूर्वक करते हैं। हम देवतागण अपनी बुद्धि, इन्द्रियाँ, प्राण, मन तथा वाणी आपको…
Nov 22, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post साक्षात वेदों द्वारा स्तुति (10.87)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 21, 2021
jagdish chandra chouhan posted a blog post
साक्षात वेदों द्वारा स्तुति (10.87)1-3 श्री परीक्षित ने कहा : हे ब्राह्मण, भला वेद उस परम सत्य का प्रत्यक्ष वर्णन कैसे कर सकते हैं, जिसे शब्दों द्वारा बतलाया नहीं जा सकता? वेद भौतिक प्रकृति के गुणों के वर्णन तक ही सीमित हैं, किन्तु ब्रह्म समस्त…
Nov 21, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post शिवजी द्वारा स्तुति (10.63)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 20, 2021
jagdish chandra chouhan posted a blog post
शिवजी द्वारा स्तुति (10.63)33-34 बाणासुर की भुजाएँ कटते देखकर शिवजी को अपने भक्त के प्रति दया आ गयी अतः वे भगवान चक्रायुध (कृष्ण) के पास पहुँचे और उनसे इस प्रकार बोले। श्री रुद्र ने कहा- आप ही एकमात्र परम सत्य, परम ज्योति तथा ब्रह्म की शाब्दिक…
Nov 20, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post भूमिदेवी द्वारा स्तुति (10.59)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 19, 2021
jagdish chandra chouhan posted a blog post
भूमिदेवी द्वारा स्तुति (10.59)23-25 तब भूमिदेवी भगवान कृष्ण के पास आई और भगवान को अदिति के कुण्डल जो चमकीले सोने के बने थे और जिसमें चमकीले रत्न जड़े थे, एक वैजयन्ती माला, वरुण का छत्र तथा मन्दर पर्वत की चोटी अर्पित की। हे राजन, उनको प्रणाम करके तथा…
Nov 19, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post अक्रूर द्वारा स्तुति (10.40)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 18, 2021
jagdish chandra chouhan posted a blog post
अक्रूर द्वारा स्तुति (10.40)1-4 श्री अक्रूर ने कहा: हे समस्त कारणों के कारण, आदि तथा अव्यय महापुरुष नारायण,मैं आपको नमस्कार करता हूँ। आपकी नाभि से उत्पन्न कमल के कोष से ब्रह्मा प्रकट हुए हैं और उनसे यह ब्रह्माण्ड अस्तित्व में आया है। पृथ्वी, जल,…
Nov 18, 2021
jagdish chandra chouhan commented on jagdish chandra chouhan's blog post इन्द्रदेव तथा माता सुरभि द्वारा स्तुति (10.27)
"🙏🌹हरे कृष्ण🌹🙏"
Nov 17, 2021
More…